Category Archives: Grahan Kaal

Category Archives: Grahan Kaal

 chandra grahan Vashikaran
chandra grahan Vashikaran

 

चंद्र ग्रहण में कैसे करें पूजा Lunar eclipse/Chandra Grahan

GURU JI +91 8607849162

आज चंद्रमा पर राहु-केतु का पूरा असर होने से ग्रहण योग बना हैं। चंद्रमा आज मीन राशि में केतु के साथ है और उस पर राहु की पूरी दृष्टि हैं। इस तरह चंद्रमा, राहु-केतु से पूरी तरह पीडि़त हो गया हैं। इसके अलावा आज सूर्य भी इन दोनों ग्रहों से पीडि़त हैं, क्योंकि सूर्य राहु के साथ कन्या राशि में हैं। आज हो रहा चंद्र ग्रहण मीन राशि पर हैं।
दिल्ली में यह  चंद्र  ग्रहण  केवल कुछ मिनट  के लिए ही दिखेगा।  लेकिन  इसका प्रभाव दोपहर २ बजे से ही शुरू हो जायेगा।  साधको को परामर्श है कि दोपहर २. ३० से शाम ६. ३०  अपने इष्ट के मंत्रो का जप करें।  अपनेयदि आप माँ बगलामुखी की  साधना करतें हैं तो माँ के कवच एवं बीज मंत्र का जप करें।  यदि आप बीज  मंत्र के अलावा किसी और मंत्र का जप  करते है तो  कवच के  साथ  उसी का जप करें।   ग्रहण काल में जप  करने  से  मंत्र जाग्रत हो जाता है।ग्रहण के समय किसी भी मूर्ति अथवा यन्त्र को  हाथ ना लगाएं।  इस दौरान पूजा करते हुए दीपक अथवा धुप  ना जलाएं।  इस दौरान भगवान को भोग भी नहीं लगाया जाता है।  आपको केवल माला से मंत्र  जप करना है।  ग्रहण समाप्त होने के बाद स्नान करने के बाद ही अपनी नियमित पूजा करें।  यन्त्र को स्नान कराये एवं  दीपक आदि जलाकर भोग लगाएं।
 chandra grahan Vashikaran
Legends of Chandra Grahan
According to legend, during the Samudra manthan, the asura Rahu drank some of the Amrit (divine nectar). In a matter of moments, the Sun and the Moon recognized the asura and complained to Vishnu. But it was too late to prevent the asura from becoming an immortal. To save the world from potential problems, Vishnu concluded this divine play by beheading the asura with his Sudarshan chakra. The head of the asura became Rahu, and his body became Ketu. It is believed that this immortal head occasionally swallows the sun or the moon, causing eclipses. Then, the sun or moon passes through the opening at the neck, ending the eclipse.
Sutak on Chandra Grahan
Sutak is also known as Ashauch. The environment gets polluted during the period of Sutak. Sutak is the time under which no good things are done, as it is considered as an unfavorable time. Sutak is usually observed 12 hours before the Sun eclipse and 9 hours before the Lunar eclipse.

Vashikaran

http://vashikaran-yantra.com/love-problem/ - For Love Problems Visit This Link